Exposure visit of school students on the occasion of National Technology Day

उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) द्वारा ‘टेक फार सेवा’ के संयुक्त तत्वाधान में दिनांक 11 मई 2022 को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर देहरादून के डोईवाला में स्थित CIPET: Centre for Skilling & Technical Support (CSTS-Dehradun) संस्थान का विद्यार्थियों को परिचयात्मक भ्रमण करवाया गया।

यूसर्क की निदेशक प्रो0 (डा0) अनिता रावत ने कहा कि यूसर्क द्वारा अभिनव पहल के तहत थीम आधारित राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय दिवसों पर राजकीय विद्यालयों के छात्रों हेतु परिचयात्मक भ्रमण का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में आज राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर यूसर्क द्वारा छात्र-छात्राओं में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में अनुसंधान व नवाचार के प्रति अभिरूचि पैदा करने के लिये इस परिचयात्मक भ्रमण का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह दिवस सभी भारतवासियों गौरवान्वित होने का अवसर प्रदान करता है तथा स्वदेशी व आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के प्रति कार्य करने के लिये प्रेरणा भी प्रदान करता है।

यूसर्क द्वारा इस अवसर पर डोईवाला क्षेत्र के विभिन्न शिक्षण संस्थाओं के 70 विद्यार्थियों को CIPET संस्थान का वैज्ञानिक भ्रमण कराया गया, जिससे विद्यार्थियों ने वहां चल रहे विभिन्न वैज्ञानिक अनुसंधान कार्यों की प्रयोगात्मक बारीकियों को सीखा एवं समझा। संस्थान में कौशल विकास से सम्बन्धित प्रशिक्षण, अत्याधुनिक तकनीकियों द्वारा प्लास्टिक उत्पादों के निर्माण, परीक्षण, गुणवत्ता व मानकीकरण नियंत्रण, प्लास्टिक इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी के सभी विषयों में अनुप्रयोग व विकास आदि क्षेत्रों में हो रहे विभिन्न कार्यों को विद्यार्थियों का अवगत करवाया गया। इस क्षेत्र में विद्यार्थियों को उनके करियर विषयक मार्गदर्शन भी संस्थान के विशेषज्ञों द्वारा प्रदान किया गया। इस भ्रमण कार्यक्रम में संस्थान की विभिन्न प्रयोगशालाओं में चल रहे वैज्ञानिक कार्यों से सम्बन्धित प्रश्नों का वैज्ञानिक समाधान भी प्रदान किया गया।

कार्यक्रम में यूसर्क के वैज्ञानिक डा0 ओम प्रकाश नौटियाल ने यूसर्क द्वारा संचालित विभिन्न प्रौद्योगिकी आधारित गतिविधियों के सम्बन्ध में एवं छात्र उन गतिविधियों से कैसे लाभान्वित हो सकते हैं इत्यादि विषयों पर जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर यूसर्क के वैज्ञानिक डा0 भवतोष शर्मा ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज का युग विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी का युग है हमें विज्ञान आधारित विभिन्न गतिविधियों को प्रयोगात्मक रूप से सीखना चाहिए तथा गम्भीर चिंतन करना चाहिए। कार्यक्रम में पर्यावरणविद् श्री हेमन्त गुप्ता ने अपने सम्बोधन में तकनीकी का सदुपयोग करने के साथ-साथ पर्यावरण की रक्षा करने का आह्वान किया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × one =