यूसर्क द्वारा संचालित एक सप्ताह के “Spectroscopic Techniques and Material Structures” विषयक हैण्डस आन टेनिंग सर्टिफिकेट कोर्स का समापन

यूसर्क द्वारा दिनांक 03 सितम्बर 2022 को यूसर्क द्वारा संचालित एक सप्ताह के “Spectroscopic Techniques and Material Structures” विषयक हैण्डस आन ट्रेनिंग सर्टिफिकेट कोर्स का समापन यूसर्क के सभागार में सम्पन्न हुआ

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग के सदस्य एवं भौतिक विज्ञानी प्रोफेसर जगमोहन सिंह राणा ने अपने संबोधन में कहा कि विद्यार्थियों के लिये हैण्डस आन ट्रेनिंग, प्र्रयोगशालाओं का भ्रमण आदि वैज्ञानिक गतिविधियो के माध्यम से उनमें वैज्ञानिक चेतना का संचार होने के साथ साथ उनमें करियर सम्बन्धी प्रेरणा भी जाग्रत होती है।उन्हांने कहा कि हमें प्रयोगशाला में प्रयोग होने वाले वैज्ञानिक उपकरणों के विषय में अधिक से अधिक सीखने की प्रवत्ति होनी चाहिये। विद्याथियों के लिये इस प्रकार के हैण्डस आन ट्रेनिंग कार्यक्रम बहुत उपयोगी सिद्ध हुये हैं।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये यूसर्क की निदेशक प्रो0 (डा0) अनीता रावत ने अपने सम्बोधन में कहा कि यूसर्क द्वारा विद्यार्थियों को विभिन्न विषयों से सम्बन्धित तीन दिवसीय एवं साप्ताहिक हैण्डस आन ट्रेनिंग कार्यक्रमों को प्रारम्भ किया गया है जो कि विद्यार्थियों के लिये बहुत उपयोगी सिद्ध हो रहे हैं। विद्याथियों की आवश्कताओं के अनुसार प्रशिक्षण कार्यक्रमों को विभिन्न वैज्ञानिक व्याख्यानों के साथ साथ प्रयोगात्मक रूप से भी भारत सरकार एवं राज्य के विभिन्न शोध एवं शिक्षण संस्थानों के साथ सहयोगात्मक रूप से आयोजित किया जा रहा है।

कार्यक्रम का संचालन करते हुये कार्यक्रम समन्वयक व यूसर्क वैज्ञानिक डा0 ओम प्रकाश नौटियाल ने इस एक सप्ताह के इस कार्यक्रम की रिर्पोट प्रस्तुत करते हुए बताया कि इस कार्यक्रम में उत्तराखण्ड के 15 शिक्षण संस्थानों के 30 विद्यार्थियों के द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन चयनित विद्यार्थियों को वाडिया संस्थान, वन अनुसंधान संस्थान, डाल्फिन संस्थान तथा एस0 जी0 आर0 आर0 विश्वविद्यालय की प्रयोगशालाओं में विभिन्न स्पेक्ट्रोस्कोपिक एवं पदार्थ विज्ञान के आधुनिक वैज्ञानिक उपकरणों पर हैण्डस आन ट्रेनिंग प्रदान की गयी है।

कार्यक्रम के अंत में उपस्थित समस्त प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाणपत्र प्रदान किये गये। डा0 मन्जू सुन्दरियाल द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया। कार्यक्रम में यूसर्क के वैज्ञानिक डा0 भवतोष शर्मा, डा0 राजेन्द्र सिंह राणा, डा0 वर्षा पारचा, ई0 उमेश जोशी द्वारा तकनीकी सहयोग प्रदान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × two =